हैंडराइटिंग कैसे सुधारे | How to improve Handwriting in Hindi

हैंडराइटिंग कैसे सुधारे | How to improve Handwriting in Hindi

दोस्तों जब आप पढ़ाई करते हैं और खूब मेहनत करते हैं। परंतु आपका Handwriting अच्छा नहीं है, तो आपको पढ़ाई में ठीक से मन भी नहीं लगता। और जब आप एग्जाम में सभी प्रश्नों के उत्तर भी लिख देते हैं। परंतु उसका अंक आपके हिसाब से नहीं आता है तो आप को अच्छा महसूस नहीं होता होगा, परंतु क्या आप जानते हैं ऐसा क्यों होता है ? क्योंकि इसका मुख्य कारण आपका हैंडराइटिंग का खराब होना होता है। तो चलिए आज हम जाने वाले हैं कि आप अपने हैंडराइटिंग को कैसे सुधार सकते हैं।

आप लिखावट को कैसे सुधारें | Handwriting in hindi Kaise Sudhare

Hindi handwriting-Handwriting in Hindi
Hindi handwriting

जब आप पढ़ाई करने बैठते हैं और आपकी हेड राइटिंग अच्छी होती है. तो आपका जो इमेज होता है वह स्कूल में या अपने दोस्तों के समक्ष एक अच्छा होता हैं। परंतु अगर आपका हैंडराइटिंग अच्छा नहीं दिखता है तो आपको जो महसूस होता होगा तो आप ही जानते होंगे। मतलब कि आपको अच्छा महसूस नहीं होता होगा. आपको कभी-कभी तो किसी के समक्ष हैंडराइटिंग लिखने में शर्मिंदगी महसूस होती होगी तो आज हम इसे दूर करने के कुछ उपाय आपके समक्ष रखेंगे.

लिखावट सुधारने के 8 तरीके | handwriting improvement tips in Hindi.

लिखावट सुधारने के 8 तरीके जो आपके Handwriting in hindi को सुन्दर और आकर्षित बना सकता है तो आइये जानते है.

प्रत्येक दिन लिखना | Daily handwriting

अगर आपका हैंडराइटिंग अच्छा नहीं है तो आपको प्रत्येक दिन नियमित रूप से लिखते रहना चाहिए। आपको प्रत्येक दिन का एक नियमित रूटीन बनाना चाहिए और आपको एक से 3 घंटे तक लिखना चाहिए। आप लिखने में अपने विषय को ही चुने ताकि आपको वह विषय के अध्याय भी याद हो जाएं। इससे आप के दो फायदे होंगे एक तो आपका हैंडराइटिंग बहुत सुंदर बनता जाएगा और साथ ही साथ आपको जो भी विषय ल को लिखेंगे उसके अध्याय के प्रश्न उत्तर भी याद हो जाएंगे।

अच्छे से अक्षरों को सजाकर लिखें

जब आप कोई विषय के अध्याय को लिखते हैं तो बहुत सारे अक्षरों का लेखन इधर उधर रहता है जिससे लिखा हुआ अच्छे ढंग से पढ़ा भी नहीं जा सकता और वह देखने में भी सुंदर नहीं दिखाई पड़ता है। यदि आप सही में अपना Handwriting सुधारना चाहते हैं तो आपको अक्षरों को सही तरीके से लिखना चाहिए। मान लीजिए आप हिंदी के विषय को लिख रहे हैं । तो आप किताबों से देख देख कर अच्छे ढंग से सजा कर लिखने का प्रयास करना चाहिए, और साथ ही साथ यह भी ध्यान रखना चाहिए कि जिस कॉपी में या जिस पन्ने में आप लिख रहे हैं। उस पर अक्षरों का लाइन आकार अच्छे से लिखना चाहिए ताकि वह लिखा हुआ है। राइटिंग सुंदर और सटीक रूप से दिखाई पड़े।

Handwriting करते समय जल्दबाजी ना करें

जब आप किसी टास्क को पूरा करने के लिए जल्दी जल्दी लिखना शुरू करते हैं तो आपको यह दिखाई पड़ेगा की आपकी हैंडराइटिंग अच्छे ढंग से नहीं लिखा पा रहा है। कभी-कभी तो आप अपना लिखा हुआ भी पढ़ नहीं पाते हैं । इसलिए जब आप किसी विषय को अपने कॉपी में लिख रहे होते हैं । तो लिखने में समय भी दे। ताकि आपका handwriting अच्छा और सुनियोजित तरीके से कॉपी में लिखा जा सके। इससे आप के दो फायदे होंगे पहला कि आप जल्दबाजी में शब्द गलत लिख रहे होते हैं। वह गलत नहीं लिखेंगे साथ ही साथ handwritng सुंदर और मजबूत होगा।

हैंडराइटिंग लिखने समय अच्छे पेन का इस्तेमाल करें

जब आप के मन में यह विचार आ रहा होगा कि हमारा Hindi handwriting अच्छा करना है। तो सर्वप्रथम आपको अच्छे पेंसिल या पेन का चयन करना आवश्यक है। जब आप हैंडराइटिंग लिखे तो हल्का पेन का ही इस्तेमाल करें । क्योंकि जब आप हल्के पेन का इस्तेमाल ना कर भारी पेन का इस्तेमाल करेंगे तो आप अधिक समय तक लिख नहीं पाएंगे और आपकी उंगलियां जो है दुखने लगेगी। इसलिए हमारा विचार है कि आप जब हैंडराइटिंग को सुधारना चाहते हैं तो हल्के और अच्छे कलम का चुनाव करें।

अपने ग्रिप को चेक करें

माना जाता है कि खराब लिखावट का प्रमुख कारण ग्रिप होती है। अगर आप पेंसिल और पेन से लिख रहे हैं और उसमें अंगूठे, मध्यमा उंगली और तर्जनी उंगली का प्रयोग कर रहे हैं तो ठीक है । कई बार कुछ बच्चे पेन को बहुत जोर से पकड़ते हैं। जिनसे उनका हाथ जल्दी थक जाता है जिससे उनकी हेड राइटिंग खराब होने लगती है।
ग्रित को ज्यादा कसकर पकड़ने की जरूरत नहीं है । क्योंकि जब आप कागज पर बहुत ज्यादा प्रेशर देखकर लिखते हैं तो आपकी लिखावट खराब होती है। इसलिए आपको यह ध्यान रखना होगा कि आप पेन या पेंसिल को अपने अंगूठे उंगलियों से कितना दबाव बना रहे हैं।

सफाई पर विशेष ध्यान रखकर

जब आप अच्छा और सुंदर लिखने का प्रयास करते हैं तो सर्वप्रथम आपको सफाई पर विशेष ध्यान देना होता है ।जब आप लिख रहे होते हैं तो इसका ध्यान रखना होता है कि आप अपने लिखावट के दौरान काट पीट ना करें। अगर गलती होती भी है तो आप उसे सिंगल लाइन से ही काटे ताकि पढ़ने और देखने में समझ आ सके की कौन सा शब्द गलत है और सही क्या है।

लिखने समय लाइन का ध्यान रखना

अच्छी हैंडराइटिंग तभी तभी दिखेगी जब आप लिखने समय लाइन अच्छे ढंग से खींचे ताकि शब्द और भी सुंदर दिख सकें।

मुद्रा (पोस्चर) पर ध्यान आकृष्ट करना

अगर आप सही मुद्रा में ध्यान देकर हैंडराइटिंग नहीं करेंगे तो आपका हेडराइटिंग नहीं सुधर सकता हैं। जब आप सही मुद्रा में ध्यान देकर लिखेंगे यानी पीठ को सीधी रख कुळहो, घुटनों और एडियो को 90 डिग्री के कोण झुका कर लिखने से आपके मांसपेशियों पर दबाव कम पड़ता है। जिससे जोड़ों का थकान भी नहीं महसूस होता है और आप लंबे समय तक बैठकर आसानी से लिख सकते हैं।

जब आप इन छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखेंगे तो आपको लगेगा कि आपकी हेडराइटिंग बहुत ही सुंदर और आकर्षक बनती जा रही है। मुझे आशा है कि मैंने आपको Handwriting in hindi के बारे में अच्छे तरीके से समझा पाया और इन सब टिप्स को यूज कर आप अपने हैंडराइटिंग को सुंदर और आकर्षित बना सकते हैं। अगर आपको यह हमारी पोस्ट अच्छी लगी हो तो हमें कमेंट कर जरूर बताएं । साथ ही साथ इसे सोशल मीडिया के माध्यम से साझा करें।

Leave a Comment