फुटबॉल के बारे में रोचक बातें : फीफा वर्ल्ड कप की शुरुआत कब हुई

सभी के कोई न कोई पसंदीदा खेल होते हैं कोई क्रिकेट पसंद करता है कोई टेनिस पसंद करता है कोई अन्य खेल पसंद करता है उसमें से कई ऐसे हैं जिन्हें फुटबॉल में काफी रुचि होती है और वह अपनी रूचि के खेल की सारी जानकारियां इकट्ठा करने में लगे रहते हैं. दोस्तों आज हम आपको कुछ ऐसी ही जानकारियां फुटबॉल के बारे में बताने वाले. जैसे फीफा वर्ल्ड कप की शुरुआत कब हुई ,फुटबॉल के बारे में रोचक बातें,फुटबॉल का इतिहास,फुटबॉल का जन्म,फुटबॉल को कैसे मिली पहचान,फुटबॉल खेल कैसे खेला जाता है,फुटबॉल खेल का मैदान.

जिस तरह पूरी दुनिया में क्रिकेट एक लोकप्रिय खेल है उसी प्रकार फुटबॉल भी एक बहुत ही लोकप्रिय खेल माना जाता है। फुटबॉल में ऐसे ऐसे बेहतरीन खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपने दर्शकों का ध्यान फुटबॉल के तरफ आकर्षित कर दिया.

आज वैसे ही बेहतरीन खिलाड़ी के बदौलत फुटबॉल बहुत ही लोकप्रिय खेल बन चुका है. अगर आप भी फुटबॉल के बारे में जानकारी खट्टा करने का प्रयास कर रहे हैं तो हम आपके लिए आज फुटबॉल के विषय पर कुछ जानकारियां बताने का प्रयास करेंगे तो आइए चलते हैं इसका विश्लेषण करते हैं.


फुटबॉल का जन्म


फुटबॉल के जन्म के बारे में यदि हम बात करते हैं तो फुटबॉल शब्द की उत्पत्ति के बारे में लोगों की अलग-अलग राय है. फीफा के अनुसार फुटबॉल खेल सुजु का विकसित रूप है. इसे हम कह सकते हैं कि चीन में फुटबॉल के जैसा जो खेल खेला जाता है उसे सुजु कहते हैं. चीन में यह खेल ह्वान वंश के समय विकसित हुआ था जबकि यह खेल जापान में ही आशुका वंश के शासन काल में ‘केमरी’ नाम से भी फुटबॉल खेल को जाना जाता था। 1586 में फुटबॉल को जॉन डेविस नाम के समुद्री जहाज के कप्तान के कार्यकर्ताओं के माध्यम से ग्रीनलैंड में खेला गया था। 15 वी शताब्दी में फुटबॉल नाम से ही यही खेल स्कॉटलैंड में खेला गया। तो इस तरह से हम फुटबॉल का जन्म के बारे में समझ सकते हैं यह अलग-अलग देशों में अलग-अलग नामों से भी जाना जाता है।

आइए अब हम आपको फुटबॉल के इतिहास के बारे में कुछ बताने का प्रयास करते हैं।

फीफा वर्ल्ड कप की शुरुआत कब हुई ,फुटबॉल का इतिहास,फुटबॉल का जन्म,फुटबॉल को कैसे मिली पहचान,फुटबॉल खेल कैसे खेला जाता है,फुटबॉल खेल का मैदान


फुटबॉल का इतिहास


फुटबॉल की इतिहास की बात करें तो यह खेल बहुत पहले से खेला जाता रहा है लेकिन इसका नाम बाद में फुटबॉल पड़ा ब्रिटेन के राजकुमार हेनरी चतुर्थ ने सन 1408 में फुटबॉल शब्द का इस्तेमाल इंग्लिश में किया था। वहीं इंग्लैंड के राजा कीन हेनरी अष्टम में फुटबॉल खेलने की रूचि सन 1526 में जताई थी। इसके साथ ही उन्होंने एक विशेष प्रकार का जूता भी बनवाया था। 16 वीं शताब्दी के अंत में और 17 वीं शताब्दी के प्रारंभ में पहली बार फुटबॉल खेल के गोल की धारणा का विकास हुआ। खिलाड़ियों ने मैदान में दो विपरीत जगहों में झाइयां लगाकर गोलपोस्ट का निर्माण किया। 17 वीं शताब्दी के समय 8 या 12 गोल का एक मैच खेला जाता था।


फुटबॉल को कैसे मिली पहचान

फुटबॉल को कैसे मिली पहचान : फुटबॉल को 19वीं शताब्दी में विभिन्न रूप के साथ इंग्लैंड के पब्लिक स्कूलों में खेला गया था। इतिहासकारों के अनुसार फुटबॉल क्लब की शुरुआत 1824 मैं एडिबर्ग नामक स्थान में हुई थी। उसी में से एक ‘शेफील्ड फुटबॉल क्लब’ है जिसे अंग्रेजी फुटबॉल क्लब के नाम से जानते हैं। अंग्रेजी फुटबॉल क्लब की स्थापना 24 अक्टूबर 1857 में हुई थी यह पूरी दुनिया में सबसे पुराना सक्रिय फुटबॉल क्लब है। इसी तरह 1862 में अंग्रेजी क्लब नोट्स काउंटिं क्लब की स्थापना की गई। तभी से इस खेल का प्रचार शुरू हो गया जिससे व्यापारियों ने फुटबॉल में अपनी रुचि दिखाई।

जानकारी के लिए आपको बताते चलें कि फुटबॉल की सबसे पहली प्रतियोगिता 1872 में खेली गई। यह प्रतियोगिता इंग्लैंड और स्कॉटलैंड के बीच हुआ था इस खेल को देखने के लिए लगभग 4000 लोग उपस्थित हुए थे। हालांकि इसका स्कोर 0-0 की बराबरी पर होकर खत्म हुआ था।
दुनिया का पहला अंतर्राष्ट्रीय मुकाबला 1883 में खेला गया था जिसमें इंग्लैंड स्कॉटलैंड वेल्स आयरलैंड की टीमों ने भाग लिया था। इस तरह से फुटबॉल का खेल पूरे इंग्लैंड में विस्तार होता गया जिसके कारण से पूरे यूरोपीय महाद्वीप में यह फैल गया। फुटबॉल को यूरोप के बाहर सबसे पहले अर्जेंटीना में खेला गया था।

अब हम आपको बताने वाले हैं कि फीफा वर्ल्ड कप की शुरुआत कब हुई

फीफा वर्ल्ड कप की शुरुआत कब हुई

फीफा वर्ल्ड की शुरुआत कब हुई अगर आप नहीं जानते हैं तो आज हम आपको इसके विषय में जानकारी देने जा रहे है। फीफा वर्ल्ड कप की शुरुआत 1904 में हुआ था। यानी हम कह सकते हैं कि अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल संस्था की घोषणा की गई थी। और उसके साथ-साथ कई नियम बनाए गए जिसे फुटबॉल के खेलने के क्रम में पालन करना अनिवार्य है। फीफा का जमीनी अधिनियम फ्रांस डेनमार्क नीदरलैंड्स स्पेन स्वीडन बेल्जियम के प्रतिनिधियों द्वारा हस्ताक्षर करके अपनी सहमति दी थी। हालांकि शुरुआत में इंग्लैंड और दूसरे ब्रिटिश देश शामिल नहीं थे। फीफा अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल एसोसिएशन बोर्ड के प्रतिनिधित्व के कारण 1913 में दुनिया में फुटबॉल की लोकप्रियता बढ़ गई। तब से लेकर आज तक यह पूरे विश्व में फैल गया और लोगो की फुटबॉल के प्रति रुचि बढ़ने लगी। जिससे फुटबॉल एक लोकप्रिय खेल बन गया। वर्तमान समय में फीफा के 4 प्रतिनिधि और चारों ब्रिटिश एसोसिएशन का एक-एक प्रतिनिधि बोर्ड में शामिल है। फुटबॉल पूरी दुनिया में खेला जाने लगा जिसके कारण लोग लाखों की संख्या में नियमित रूप से फुटबॉल के मैदान में जाने लगे आज हम जब फुटबॉल को टेलीविजन में देखते हैं तो उस मैदान में बहुत लोग यानी लाखों लोग इस खेल का आनंद बड़े शौक से लेते हैं।


फुटबॉल खेल कैसे खेला जाता है

फुटबॉल खेल कैसे खेला जाता है
फुटबॉल खेल कैसे खेला जाता है

फुटबॉल का खेल कैसे खेला जाता है : जिसमें पैर से खिलाड़ी फुटबॉल के माध्यम से गोल करते हैं यह खेल एक गोल गेंद से खेला जाता है क्योंकि यह पैर से खेला जाता है इसलिए इसे फुटबॉल कहा जाता है।

इस खेल में 11 खिलाड़ियों की 2 टी में होती है जिससे प्रत्येक खिलाड़ी दूसरी टीम के जो गोल पोस्ट होते हैं उसमें गेंद डालने की कोशिश करता है अगर टीम को गोल प्राप्त होता है और वह ज्यादा गोल करती है तो उसे विजेता घोषित किया जाता है। यह खेल 90 मिनट का होता है जिसमें 45 मिनट पर एक छोटा सा ब्रेक 15 मिनट के लिए होता है इसी दौरान यदि कोई खिलाड़ी खेल के क्रम में घायल हो जाता है तो इंजरी टाइम के तहत कुछ देर के लिए खेल को स्थगित कर दिया जाता है और फिर दोबारा से खेल प्रारंभ हो जाता है।

फुटबॉल गेंद की साइज

फुटबॉल गेंद की साइज की बात करें तो वर्तमान समय फुटबॉल खेल को बेहतर बनाने के लिए इसे बेहतर तरीके से बनाया जाने लगा है कई अच्छे फुटबॉल बनाने की कंपनियां स्थापित हो चुकी है। जो मैदान, खिलाड़ियों के उम्र, मैच को ध्यान में रखकर फुटबॉल को बनाते हैं। फुटबॉल की गेंद 58 सेंटीमीटर से 61 सेंटीमीटर के बीच होती है यह एक वृत्ताकार गेंद होती है।

फुटबॉल खेल का मैदान

फुटबॉल खेल के मैदान की बात करें तो मैदान की लंबाई को साइड लाइन और चौड़ाई को गोल लाइन के नाम से जाना जाता है जिसका आकार 50 गज 100 गज से लेकर 130 गज आयताकार आकार का दिखाई पड़ता है। खेल के मैदान में एक बीच में रेखा होती है जो मैदान को दो भागों में बराबर बराबर बांट ती है जिसके मध्य केंद्र से 10 गज त्रिज्या का एक वर्त खींच दिया जाता है जिसे आरंभ का वर्त कहते हैं। मैदान के दोनों सिरों की बात करें तो 8 गज चौड़े गोल क्षेत्र होते हैं। गोल क्षेत्रों के दोनों और 18.18 गज का आयताकार पेनल्टी क्षेत्र होता है.

फुटबॉल पिंच की लंबाई

अगर हम अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए पिंच की लंबाई की बात कर रहे हैं तो इसकी लंबाई 110 मीटर होती है और चौड़ाई 64 मीटर से 75 मीटर होती है। वहीं अन्य खेलों में इसकी लंबाई 91 मीटर से 120 मीटर और चौड़ाई 45 मीटर से लेकर 91 मीटर की होती है मैच के दौरान देखते होंगे कि जो जाल होता है उसे आमतौर पर गोल के पीछे रखा जाता है लेकिन नियम के अनुसार उसकी कोई आवश्यकता नहीं होती है।

हम आपको अपने अगले आर्टिकल में फुटबॉल खेल के सारे नियम के बारे में बताएंगे उम्मीद करता हूं कि हमारे द्वारा बताए गए फुटबॉल के बारे में रोचक बातें के साथ साथ फीफा वर्ल्ड कप की शुरुआत कब हुई ,फुटबॉल का इतिहास,फुटबॉल का जन्म,फुटबॉल को कैसे मिली पहचान,फुटबॉल खेल कैसे खेला जाता है,फुटबॉल खेल का मैदान आपको पसंद आई होंगी अगर यह आर्टिकल आपको पसंद आया तो आप इसे अपने मित्रों के साथ साझा करें साथ ही साथ इसे सोशल मीडिया के माध्यम से साझा करें।

धन्यवाद !

इसे भी पढ़े

5/5 - (4 votes)

1 thought on “फुटबॉल के बारे में रोचक बातें : फीफा वर्ल्ड कप की शुरुआत कब हुई”

  1. Pingback: फुटबॉल खेल के नियम और फुटबॉल किक के बारे में जानकारी हिंदी में जाने

Leave a Comment