गिलोय के फायदे -Giloy Ke fayde hindi me

गिलोय के फायदे (Giloy Ke fayde)

Giloy Ke fayde

जैसा कि आज हम सभी कोरोनावायरस कोविड-19 से प्रभावित हैं एवं यह बीमारी पूरे विश्व भर में फैल चुकी है इस कोविड-19 की वजह से पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था चौपट हो चुकी है।
परंतु कुछ ऐसी चीजें हैं जिससे हमें इस कोरोनावायरस से लड़ने के लिए मदद भी करता है उसमें से एक गिलोय ऐसी चीज है जिसे आप 100 मर्ज की एक दवा कह सकते हैं।
गिलोय (giloy) को संस्कृत में अमृता का नाम दिया गया है पुराने काल में जब देवी देवताओं और दानवों के बीच में समुंद्र मंथन हुआ था तो उसके दौरान अमृत की कुछ बूंदें जहां-जहां छलकी वहां वहां गिलोय की उत्पत्ति हुई ऐसा माना जाता है।

गिलोय का वनस्पति नाम क्या है

गिलोय का वनस्पति नाम(Botanical name of giloy) टीनोस्पोरा कोर्डीफोलिया (Timisoara cordifolia) हैं।
गिलोय का जो पता होता है वह ठीक पान के पत्ते के जैसा दिखाई देता है जिस पौधे पर भी यह गिलोय चल जाता है माना जाता है और यह देखा भी गया है कि वह पौधे को मरने नहीं देती, giloy ke fayde बहुत है ।

गिलोय के फायदे Benifit of Giloy

तो आइए हम जानते हैं गिलोय के फायदे के बारे में इसके बारे में आयुर्वेद में क्या बताया गया है या कैसे गुणकारी एवं लाभकारी है –

  • गिलोय से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता है – जी हां गिलोय एक ऐसी औषधि है जो व्यक्ति को रोग से लड़ने की क्षमता बढ़ाकर उसे बीमारियों से दूर रखता है। माना जाता है जो शरीर में विषैले पदार्थ है उसको निकालने में भी या कारगर है । इसके साथ-साथ यह हमारे खून को साफ एवं बैक्टीरिया से लड़ता है जिससे हमारा लीवर और किडनी को रोग पीड़ित होने से बचाता है।

  • गिलोय का उपयोग हम बुखार ठीक करने में भी करते हैं- अगर किसी व्यक्ति को बार बार बुखार आता है तो उसे गिलोय का सेवन करने से बुखार से लड़ने में मदद मिलता है इसलिए आयुर्वेद के जानकार लोग डेंगू के मरीजों के लिए भी गिलोय के सेवन की सलाह देते हैं। बुखार के अलावा गिलोय का उपयोग स्वाइन फ्लू में आने वाले बुखार से छुटकारा पाने के लिए भी किया जाता है।

  • डायबिटीज के रोगियों के लिए गिलोय बहुत फायदेमंद है- गिलोय औषधि है जो डायबिटीज के रोगो मैं भी कारगर साबित होता है यानी या डायबिटीज के रोगियों के खून में शर्करा की मात्रा को कम करने में कारगर साबित होती है जिसका फायदा टाइप टू डायबिटीज मरीजों के लिए होता है।

  • गिलोय के फायदे(giloy ke fayde) पाचन शक्ति बढ़ाने में ही उपयोग होता है- गिलोय औषधि का उपयोग पाचन तंत्र को अच्छे ढंग से संचालित करने एवं भोजन को पचाने की प्रक्रिया में लिया जाता है । हम सभी को कब्ज और पेट की दूसरी गड़बड़ियों से बचाने के लिए भी गिलोय बहुत ही कारगर एवं उपयोगी है।

  • गिलोय का उपयोग ट्रेस कम करने में भी किया जाता- जी हां इस भागदौड़ की दौर में तनाव या ट्रेस एक बहुत ही बड़ी समस्या बन गया है इस समस्या के स्तर को कम करने एवं हमारे याददाश्त बढ़ाने के लिए भी एक कारगर दवा है गिलोय जो सीधी हमारे मस्तिष्क को दुरुस्त एवं एकाग्र बनाती है गिलोय के फायदे(giloy ke fayde) मैं यह एक महत्वपूर्ण फायदा है।

  • गिलोय के फायदे (giloy ke fayde) मैं एक आंखों की रोशनी मजबूत करना भी शामिल है – जी हां गिलोय को आंखों के पलकों के ऊपर लगाने से हमारे आंखों की रोशनी को निश्चित रूप से बढ़ाता है या आयुर्वेद में प्रमाणित हो चुका है इसके लिए आपको गिलोय पाउडर को पानी में गर्म करना होगा और जब पानी अच्छे से ठंडा हो जाए तब आप इसे अपने आंखों के पलकों के ऊपर लगाएंगे तो आपको आंखों की रोशनी की समस्या से निदान प्राप्त हो सकता है।

  • गिलोय अस्थमा के रोगों के लिए भी फायदेमंद है- मौसम के बदलाव के कारण अक्सर लोगों को सर्दियों में अस्थमा के जो मरीज होते हैं उनको बहुत ही ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ता है ऐसे में अस्थमा के मरीजों को अगर नियमित रूप से गिलोय की मोटी बन्टी चबाने से या उसका जूस बनाकर पीने से उनके अस्थमा में काफी नियंत्रण एवं उन्हें काफी आराम महसूस होता है।

  • गिलोय एनीमिया के रोग में भी कारगर साबित होता है- giloy se fayde की बात करेंगे तो अगर किन्ही को एनीमिया यानी शरीर में खून की कमी पड़ती है या उन्हें हर वक्त थकान और कमजोरी आता है तो गिलोय का नियमित सेवन करने से यह शरीर मैं रक्त कणिकाओं को बढ़ाने में कारगर होता है जिससे एनीमिया से छुटकारा मिलता है।

  • गिलोय से पेट की चर्बी को कम किया जा सकता है- giloy se fayde की बात करेंगे तो या हमारे शरीर के बड़े सूजन को कम करती है और पाचन शक्ति बढ़ाती है ऐसा होने से पेट में चर्बी जमा नहीं हो पाती है और आपका वजन नियंत्रित रहता है तो हम कह सकते हैं कि giloy ke fayde में यह एक महत्वपूर्ण फायदा है।

  • गिलोय के नियमित उपयोग से यौन इच्छा में बढ़ोतरी होती है- गिलोय के फायदे (giloy ke fayde) ना केवल हमारे शरीर के लिए फायदेमंद है बल्कि अगर आप बगैर किसी दवा के यौन इच्छा शक्ति को बढ़ाना चाहते हैं तो गिलोय का सेवन कर सकते हैं गिलोय में यौन इच्छा बढ़ाने के बहुत सारे गुण पाए जाते हैं जिससे यौन संबंध बेहतर हो सकते हैं।

  • गिलोय का उपयोग सुंदरता बढ़ाने के लिए किया जाता है- गिलोय ना केवल हमारे सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद है बल्कि यह हमारे त्वचा एवं वालों पर भी बहुत असरदार है इससे हमारे त्वचा की खूबसूरती को बढ़ाने में मदद करता है।

  • गिलोय में एंटी एजिंग गुण होते हैं- गिलोय की मदद से काले धब्बे मुंहासे बारिक लकीरे झुर्रियों को दूर करने के लिए भी इसका सेवन किया जाता है इसे नियमित रूप से सेवन करने से आप ऐसी निकली और चमकती त्वचा पा सकते हैं जिसकी कल्पना हर किसी के मन में होती है अगर आप इसे त्वचा पर लगाते हैं जहां घाव होता है तो वह घाव जल्दी ही भर जाते हैं इसका उपयोग हम गिलोय के पत्तियों को पीसकर पेस्ट बनाकर कर सकते हैं जिससे हमें त्वचा की खूबसूरती बढ़ती है और हमारे सुंदरता को बनाए रखने में कारगर साबित होती है।

  • गिलोय के उपयोग से बालों की समस्या दूर होती है- गिलोय का उपयोग बालों में डैंड्रफ बाल झड़ने या सर की त्वचा की अन्य समस्याओं से ग्रसित लोगों के लिए बहुत ही उपयोगी एवं कारगर है या हमें इन सब चीजों को ठीक करने में मदद करता है। Giloy ke fayde अगर आप जान गए हैं तो अब आइए आपको गिलोय का प्रयोग कैसे करते हैं इस बारे में बताते हैं । गिलोय का जूस कैसे बनाएं?

गिलोय के डंडियों को छीलकर इसमें पानी मिलाकर मिक्सी में अच्छी तरह पीसकर ठान ले और इसका सेवन सुबह सुबह खाली पेट में करें। बाजार में अलग अलग ब्रांड के गिलोय जूस भी उपलब्ध होते हैं।

गिलोय का काढ़ा कैसे बनाएं?

गिलोय की डंडी को छोटा छोटा काट कर उन्हें कूटकर कुछ पानी में उबाल पानी जैसे ही आधा हो जाए उस पानी को छानकर पी ए और अधिक फायदेमंद बनाने के लिए आप उसमें लोंग इलाइची अदरक तुलसी भी डाल सकते हैं।

गिलोय का पाउडर कैसे बनाएं?

वैसे तो बाजार में गिलोय का पाउडर उपलब्ध है परंतु अगर आप घर में गिलोय का फोटो बनाना चाहते हैं तो गिलोय की जो डांडिया होती हैं उन्हें धूप में अच्छे से सुखाले । अच्छे से सूख जाने पर आप इसे मिक्सी से पीसकर पाउडर बना सकते हैं।

मुझे विश्वास है आप गिलोय के फायदे एवं इसके उपयोग को समझ चुके होंगे अब इसके कुछ साइड इफेक्ट के बारे में भी हमें जानने की आवश्यकता है- वैसे तो गिलोय को नियमित रूप से उपयोग करने पर कोई भी गंभीर दुष्परिणाम अभी तक सामने नहीं आया है लेकिन जैसा कि हम जान चुके हैं कि गिलोय का उपयोग हम खून में शर्करा को कम करने में उपयोग करते हैं इसलिए इस पर हमें ध्यान रखने की आवश्यकता है कि ब्लड शुगर जरूरत से ज्यादा कम ना हो जाए। गिलोय का उपयोग हमें गर्भवती और स्तनपान करने वाली महिलाओं को उपयोग नहीं करने की सलाह देनी चाहिए साथ ही साथ 5 साल से छोटे बच्चों को गिलोय का सेवन नहीं करना चाहिए तो यह थी गिलोय के बारे में संपूर्ण जानकारी यह जानकारी आप सभी को कैसी लगी हमें कमेंट कर अवश्य बताएं और हमारे वेबसाइट को सोशल मीडिया व्हाट्सएप एवं अन्य माध्यमों के माध्यम से अपने परिवार जन और मित्रों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें धन्यवाद।।

लेखक सुधीर कुमार स्नेही, चतरा झारखंड।

5/5 - (4 votes)

Leave a Comment