मोबाइल का आविष्कार कब हुआ और किसने किया? जानिए

मोबाइल का आविष्कार कब हुआ और किसने किया? जानिए

जैसा कि हम सभी को ज्ञात है कि आज के समय में बिना मोबाइल जी पाना भी मुश्किल सा महसूस होता है. मोबाइल का आविष्कार (Mobile ka Aviskar) यह इंसानों की सबसे उपयोगी चीजों में शामिल है. इसकी टेक्नोलॉजी के माध्यम से दूर बैठे लोगों को भी संपर्क किया जाता है जिससे इंसानी जिंदगी आसान हो गई है. अगर आप के पास मोबाइल फोन है तो आप अपने परिजनों का हाल-चाल कभी भी ले सकते हैं. मोबाइल के माध्यम से फोटो खींचना, मैप रास्ता देखना,video कॉल पर परिजनों और मित्रो से बात करना मनोरंजन करना एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में पैसे भेजने के लिए भी मोबाइल फोन बहुत ही सहायक होता है। अब आपके मन में यह विचार भी आया होगा कि मोबाइल का आविष्कार किसने किया? और मोबाइल का आविष्कार कब हुआ। तो चलिए जानते हैं कि (Mobile ka Aviskar)मोबाइल का आविष्कार किसने किया?

मोबाइल का आविष्कार कब हुआ
मोबाइल का आविष्कार कब हुआ

मोबाइल फोन क्या है | What is Mobile Phone.

मोबाइल फोन एक ऐसा यंत्र माना जाता है जिसके माध्यम से दो व्यक्ति एक दूसरे से दूरी पर रहते हुए भी आपस में बात करते हैं अगर कोई व्यक्ति भारत में रहता है और दूसरा व्यक्ति विदेश में रहता है तो वह एक दूसरे से इसी फोन के माध्यम से जुड़ सकता है।
मोबाइल फोन एक ऐसा यंत्र है जो किसी प्रकार के आवाज को इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल में कन्वर्ट करता है जो केबल या इलेक्ट्रोमैग्नेटिक तरंग जैसे माध्यमों से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक पहुंचता है।

Mobile ka Aviskar किसने किया |मोबाइल का अविष्कार किसने किया

मोबाइल का आविष्कार कब हुआ ? तो सबसे पहले मैं आपको बताना चाहता हूं कि मोबाइल का आविष्कार 3 अप्रैल 1973 को हुआ था मोबाइल का आविष्कार मार्टिन कूपर Martin Cooper ने किया था। तब वह मोटरोला कंपनी के एक शोधकर्ता के रूप में कार्य कर रहे थे। मार्टिन कपूर के द्वारा बनाया गया फोन का नाम Motorola DynaTac रखा गया । इस मोबाइल का आकार लगभग एक ईट के समान बड़ा था जिसकी लंबाई 9 इंच के आसपास और वजन 1.1 किलोग्राम था। यह मोबाइल फोन सेल्यूलर नेटवर्क की तकनीक पर कार्य करता था । इस मोबाइल को चार्ज करने में 10 घंटे का समय लगता था जिससे यह लगभग 30 मिनट बात हो सकता था। इस फोन को बनाने में काफी खर्च लगता था और बहुत सारी खामियां भी पाई गई थी।उसी को दूर करने में लगभग एक दशक चला गया और फिर सेलुलर नेटवर्क शक्तिशाली बन गया। इसके पश्चात 1983 ईस्वी में सबसे पहला मोबाइल फोन बाजार में लोगों के लिए उपलब्ध कराया गया इस मोबाइल का नाम मोटोरोला डायनाटैक (Motorola DyanaTac 8000X) रखा गया । इस मोबाइल की कीमत $3995 के आसपास ( जिसकी आज के समय में ₹280000 के लगभग है) रखी गई थी।

मोबाइल आविष्कार करने वाले मार्टिन कूपर कौन थे | Who is Martin Cooper

मोबाइल आविष्कार कब हुआ तो पहले मई आपको बताना चाहता हु की मोबाइल अविष्कार करने वाले मार्टिन कपूर Martin Cooper के बारे में हम आपको संक्षिप्त में बताना चाहते हैं कि मोबाइल अविष्कार करने वाले मार्टिन कूपर का जन्म शिकागो अमेरिका में सन 26 दिसंबर 1928 को हुआ था।

यह मूलतः अपने माता पिता के साथ यूक्रेन देश में रहते थे जो कि बाद में यह सब अमेरिका चले गए थे जहां इनकी शिक्षा हुई। Martin Cooper ने लीनियस इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से 1950 ईस्वी में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में स्नातक पास किया । स्नातक पास करने के बाद अमेरिका और कोरिया के युद्ध के दौरान Martin Cooper को सबमरीन अफसर की नौकरी करनी पड़ी थी। युद्ध समाप्ति के बाद इन्होंने इन्होंने अपनी पढ़ाई फिर से चालू की सन 1957 ईस्वी में इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री भी हासिल कर ली। मास्टर ऑफ डिग्री करने के बाद Martin Cooper वह शिकागो की टेलेटाइप कॉर्पोरेशन कंपनी में काम करने लगे। इस कंपनी में 1954 को इस्तीफा देने के बाद मोटोरोला कंपनी में सीनियर डेवलपमेंट इंजीनियर के रूप में नेटवर्क टेक्नोलॉजी पर काम करना शुरू किया और उन्होंने 1973 ईस्वी में अपनी टीम को लीड करते हुए मोबाइल फोन का आविष्कार तक कर दिया।

भारत का पहला मोबाइल फोन किसने और कब बनाया?

भारत का पहला मोबाइल फोन लगभग 20 से 25 वर्ष पूर्व चालू हुआ था 31 जुलाई 1995 ईस्वी को भारत में सबसे पहले मोबाइल पर यूनियन टेलीकॉम मिनिस्टर शुक्ला राम और चीफ मिनिस्टर ऑफ वेस्ट बंगाल ज्योति बसु जी ने की थी।

एंड्राइड मोबाइल (Android Mobile)का आविष्कार किसने किया?

अब आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि हम जो मोबाइल फोन यूज करते हैं उसमें जो एंड्राइड सिस्टम होता है वह किसने बनाया और कब बनाया. बहुत लोगों को लगता होगा कि इसको बनाने वाला गूगल है। परंतु ऐसा नहीं है एंड्राइड मोबाइल का आविष्कार 3 लोगों ने Andy Rubin,Nick Sears,और Rich Miner ने 23 सितम्बर 2008 को किया था ।

भारत में पहली बार मोबाइल सर्विस कौन सी कंपनी ने उपलब्ध कराया

भारत में पहला मोबाइल कॉल दिल्ली के संचार भवन से कोलकाता राइट्स बिल्डिंग में शुरू किया गया । इससे कॉल के पश्चात पूरे कोलकाता में मोबाइल सेवा शुरू कर दिया गया। अगर बात करें कि भारत में पहली मोबाइल सर्विस प्रदान करने वाली कंपनी कौन सी है तो वह पहली मोबाइल सर्विस प्रोवाइड कराने वाली कंपनी का नाम मोदी टेलस्ट्रा (Modi Telstra’s Mobile Net) जो कि भारतीय मोदी समूह और ऑस्ट्रेलियाई टेलीकॉम दिग्गज कंपनी टेलस्ट्रा का ज्वाइंट वेंचर था। Telstra भारत में सेलुलर सेवा देने वाले लाइसेंस प्राप्त आठ कंपनियों में से यह कंपनी शामिल थी।

दुनिया भर में कितने लोग मोबाइल इस्तेमाल करते हैं?

अगर आज के समय में या पूछा जाए कि दुनिया भर में कितने लोग मोबाइल इस्तेमाल करते हैं तो कुछ बता पाना एकदम मुश्किल सा लगेगा क्योंकि मोबाइल इस्तेमाल करने वालों की संख्या प्रत्येक दिन बढ़ रही है एक अनुमान के अनुसार यह पता चला है कि लगभग 5 पॉइंट 20 मिलियन यानी 520 करोड़ की बड़ी आबादी मोबाइल फोन इस्तेमाल करती है। जिसका डाटा GSMA Intelligence की वेबसाइट पर मौजूद है आप इसे खोल कर देख सकते हैं. वहीं अगर हम भारत की बात करें तो भारत दूरसंचार नेटवर्क मोबाइल यूजर के मामले में पूरे विश्व में दूसरा स्थान रखता है। भारत की लगभग 121 करोड़ लोग मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं अब इन मोबाइल फोनों में कुछ फीचर फोन तो कुछ एंड्रॉयड फोन एवं अन्य फोन भी इस्तेमाल करते हैं। आंकड़ों के अनुसार लगभग 446 Million यानी 44.6 करोड़ भारतीय स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं भारत के इतने उपभोक्ताओं के कारण आज के समय में टेलीकॉम कंपनियां भी अपने अपने प्रोडक्ट को आगे करने में एक दूसरे के प्रतिद्वंदी खड़े हैं भारत दुनिया का सबसे सस्ता कॉल दर से बात करने वाला देश है.

मोबाइल फोन कितने प्रकार के होते हैं |Types of Mobile Phone

मोबाइल फोन मुख्यता तीन प्रकार के होते हैं जो बाजार में भी उपलब्ध है
▪️ सेल फोन : – अगर हम सेल फोन की बात करें तो यह सबसे शुरुआती दौर का फोन माना जाता है। इसमें बहुत कम फीचर उपलब्ध होते थे तथा इसका इस्तेमाल करना बहुत ही आसान माना जाता था। इसमें मुख्य रूप से फोन करना मैसेज भेजना एवं कांटेक्ट को सेव करने जैसी सुविधाएं उपलब्ध थी .इसकी बाजार में कीमत बहुत ही कम है. क्योंकि अभी बाजारों में नई तकनीक वाले मोबाइल फोन उपलब्ध है.
▪️ फीचर फोन : – हम फीचर और की बात करें तो या फोन दिखने में सेल फोन के जैसा होता है। परंतु इसमें कुछ स्मार्ट फीचर भी उपलब्ध होते हैं ।जैसे फोन कॉल टेक्स्ट मैसेज कैमरे की सुविधा वीडियो बनाना गाने सुनना तथा अन्य फंक्शन भी इसमें शामिल है
इसकी कीमत सेलफोन के मुकाबले कुछ अधिक होती है। परंतु यह स्मार्टफोन के मुकाबले सस्ते होते हैं।
▪️ स्मार्टफोन : – स्मार्टफोन जिसमें आज हम सभी को सभी सुविधाएं मिलती हैं। जैसे फोन कॉल के साथ-साथ इंटरनेट, वीडियो कॉलिंग, टच स्क्रीन, वाईफाई कनेक्टिविटी, बढ़िया कैमरा एवं अन्य कई कई एडवांस फीचर इसमें हमें मिल जाते हैं। यही फीचर इन्हें अन्य मोबाइल फोनों से अलग बनाता है। स्मार्टफोन मोबाइल में एंड्राइड एप्पल आईओएस ब्लैकबेरी विंडो आधारित कई प्रकार के फोन उपलब्ध होते हैं।

मुझे उम्मीद है कि आपको मेरे द्वारा मोबाइल फोन क्या है फोन का आविष्कार किसने किया, मोबाइल का आविष्कार कब हुआएवं इससे संबंधित अन्य जानकारी अच्छी लगी होगी अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो इसे अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने में हमारी मदद करें और हमारा मनोबल बढ़ाने के लिए इसे सोशल मीडिया फेसबुक व्हाट्सएप टि्वटर एवं अन्य सोशल साइटों के माध्यम से साझा करें इससे हमें बल मिलता है और हम आपके लिए नए से नए लेख लिखने का प्रयत्न करते हैं।

लेखन- सुधीर कुमार, चतरा झारखंड।

5/5 - (2 votes)

Leave a Comment