WiFi क्या है वाईफाई का फुल फॉर्म एवं इसके इतिहास के बारे में जाने

WiFi क्या है वाईफाई का फुल फॉर्म ,Wifi 6,Wifi Technology एवं इसके इतिहास के बारे में जाने

आज हम एक बहुत ही इंटरेस्टिंग टॉपिक पर चर्चा करने वाले हैं वह टॉपिक है WiFiक्या है, Wifi 6, Wifi का फुल फॉर्म ,वाईफाई Wifi का इतिहास, Wifi Technology कैसे काम करता है, Wifi 6 क्या है वं अन्य विषयों पर चर्चा करने वाले।

जैसा कि हम सभी को पता है कि इंटरनेट हमारे देश में कई साल पहले आ गए थे और बहुत पहले इंटरनेट का कनेक्शन लेने के लिए बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ता था लाइनों में लगकर सिम कार्ड खरीदना पड़ता था या ऑफिसों का चक्कर काटना पड़ता था, परंतु आज के समय में इंटरनेट नेटवर्क का ऐसा विकास हुआ है कि आपको इंटरनेट लेने के लिए बस एक कॉल करना पड़ता है। इंटरनेट के मांगों को देखते हुए कंप्यूटर साइंटिस्ट ओने वाईफाई टेक्नोलॉजी Wifi Technology का विकास किया था . ताकि हमारे नई पीढ़ी के लोगों को Wirless Technology के जरिए इंटरनेट से जुड़े रहे।

तो आइए जानते हैं वाईफाई Wifi क्या है Wifi का फुल फॉर्म क्या है? वाईफाई को हिंदी में क्या कहते हैं हम विस्तार पूर्वक बताने का प्रयास करते हैं.

WiFi क्या है ,Wifi का फुल फॉर्म ,वाईफाई Wifi का इतिहास ,Wifi टेक्नोलॉजी ,Wifi 6 क्या है ,Wi-Fi technology के लाभ,Wi-Fi technology के हानि.
what is wifi

Wifi क्या है | what is WiFi

Wifi क्या है Wifi एक वायरलेस तकनीक है जिसका उपयोग हम कंप्यूटर टेबलेट स्मार्टफोन और अन्य डिवाइस को इंटरनेट से जोड़ने के लिए करते हैं। WIFI NETWORK एक WIRLESS LOCAL AREA NETWORK तकनीक है ।जो किसी डिवाइस को रेडियो तरंगों का उपयोग करके उसे नेटवर्क तक पहुंचाने का कार्य या अनुमति प्रदान करती है।

Wifi का फुल फॉर्म क्या है?

Wifi का फुल फॉर्म Wirless Fidelity होता है । Wifi को हिंदी में वीरलेस फिडेलिटी कहते है ।

WIFI नेटवर्क का आविष्कार किसने किया?

Wifi का आविष्कार John O’Sullivan औऱ John Deane ने मिलकर सन 1991 में किया।

WIFI का इतिहास | HISTORY OF WIFI

अगर हम WIFI का इतिहास की बात करें तो 1971 से लेकर 1991 ईस्वी तक इसके तकनीक को विकसित करने के लिए बहुत से लोगों ने अपने कंपनियों में काम किया तब जाकर Wifi का आविष्कार John O’Sullivan औऱ John Deane ने मिलकर सन 1991 में किया।

साल 1999 ईस्वी में एक संस्था वाईफाई एलियंस ने एक ट्रेड एसोसिएशन का गठन किया था ताकि वाईफाई ट्रेडमार्क रजिस्टर्ड करके या टेक्नोलॉजी को बाजार में लोगों के लिए उपलब्ध कराया जाए। सन 2009 में version Wifi विकसित हुआ जोसे 802.11n कहा गया । यह तकनीक पुरानी तकनीक से काफी तेज थीं। आज लगभग हर एक व्यक्ति जो internet से जुड़ा होता है उसके पास Wi-Fi device या वाईफाई से संबंधित मोबाइल फोन होते हैं साथ ही साथ अगर हम वाईफाई की भूमिका की बात करें तो आज लगभग हर जगह पर Wi-Fi connectivity की सुविधा उपलब्ध है बहुत सारे Railway station , public place एवं अन्य क्षेत्रों में hotspot की सुविधा आसानी से देखने को मिल जाती है Wi-Fi लगातार विस्तार ही हो रहा है क्योंकि इसका इस्तेमाल आसान और तेज माना जाता है.

Wi-Fi technology कैसे काम करता है

भारत समेत पूरे विश्व के बहुत सारे लोग चाहे वह ऑफिस में काम कर रहे हैं अपने साथ में काम कर रही हूं हॉस्टल में हूं विद्यालय से संबंधित हो कॉलेजों में हो वह वाईफाई का इस्तेमाल d पहले हमको यह समझना होगा कि वाईफाई टेक्नोलॉजी कैसे काम करता है. इसके लिए सबसे पहले हमको एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की आवश्यकता पड़ती। आमतौर पर वाईफाई एक फाइबर केबल किया ब्रॉडबैंड लाइन केबल की तरह एक इंटरनेट स्रोत को जोड़ता है।

वाईफाई राउटर वह माध्यम है जो वाइड एरिया नेटवर्क कोर्ट के माध्यम से internet connection को प्राप्त करता है। साथ ही साथ हमारे WIRELESS ROUTER से हमारी टीवी स्मार्टफोन टैबलेट और कंप्यूटर जैसे वाईफाई सक्षम डिवाइस पर DATA COMMUNICATE करने के लिए रेडियो तरंगों का उपयोग करता है ताकि वह एक दूसरे से एयरवे के माध्यम से कनेक्ट हो सके। WI-FI Router दो तरीके से communication स्थापित कर रेडियो wave में कन्वर्ट करता या डिवाइस इस कन्वर्टेड wave को बाहर लाता है ।इस प्रक्रिया से wireless signal का एरिया बनता है जिसे हम Wi-Fi zone कहते हैं।
या Wi-Fi zone छोटा सा एरिया में WLAN का रूप लेता है और इस छोटे से एरिया में जितने भी डिवाइस होते हैं जैसे smartphone, Laptop ,प्रिंटर एवं अन्य प्रकार की वाईफाई से लैस device इसकी मदद से कनेक्ट हो जाते हैं। तो इससे स्पष्ट होता है कि अगर कोई मोबाइल फोन Wi-Fi से कनेक्ट होता है तो वह जो डिवाइस है उसमें वायरलेस एडाप्टर मौजूद है। Radio signal मजबूत नहीं होने के कारण नेटवर्क सीमित दूरी तक ही मिल पाता है जैसे अगर आप एक Wi-Fi router अपने घर में लगाते हैं तो वह सीमित दूरी तक ही डिवाइस को कनेक्ट कर पाता है।

Wi-Fi technology के लाभ |benefits of Wifi Technology

Wifi Technology की बात करें तो ये प्रमुख लाभ है : –

▪️ Wifi Technology का प्रयोग हम कहीं भी आसानी से कर सकते हैं।
▪️ वाईफाई का सेटअप और कंफीग्रेशन केबल वाले इंटरनेट टेक्नोलॉजी से काफी आसान होता है।
▪️ यह पूरी तरह से सुरक्षित है और इस नेटवर्क में बिना आपके अनुमति कोई हस्तक्षेप नहीं कर सकता है।
▪️ हम मोबाइल के माध्यम से भी Hotspot ऑन कर अन्य Devices को इस से कनेक्ट कर सकते हैं।
▪️ हम इस टेक्नोलॉजी के माध्यम से इंटरनेट को वायरलेस कनेक्टिविटी में बदल Mobile , computer एवं अन्य उपकरण में कनेक्ट कर सकते हैं।

Wi-Fi technology के हानि | Disadvantages of Wi-Fi technology

▪️ Wi-Fi technology के हानि की बात करें तो यह टेक्नोलॉजी Fixed location मैं ही काम करता है यानी आप वाईफाई का उपयोग सीमित स्थान तक ही कर सकते हैं जैसे 10 मीटर 20 मीटर तक।
▪️ यह एक मीडियम डिपेंडेंट नेटवर्क है और वाईफाई का सिग्नल जो होता है दीवार पार कर जाता है इसलिए इसका Signal strength कम दूरी तक जाता है जिसे हम यह भी कह सकते हैं कि वाईफाई का फिक्स्ड रेंज होता है.।
▪️ Wi-Fi connectivity हमें केबल वाले कनेक्टिविटी से स्पीड कम प्रदान करता है क्योंकि आज के समय में केबल में गीगाबाइट स्पीड भी उपलब्ध होती है जो काफी तेज इंटरनेट माना जाता है।
▪️ वाईफाई टेक्नोलॉजी की सुरक्षा की बात करें तो यह सुरक्षा के दृष्टिकोण से ठीक नहीं माना जाता है क्योंकि हैकर इसे हैक करके आपके डाटा को भी चुरा सकते हैं इसलिए इससे बड़ा नुकसान होने की संभावना बनी रहती है।

Wifi 6 6 क्या है ? | What is Wifi 6.

Wifi 6 इसे अगली पीढ़ी का मानक यानी Next generation standard वाईफाई टेक्नोलॉजी भी कह सकते हैं ।जो मौजूदा Wifi standard से ज्यादा बेहतर तरीके से बनाया गया। इसमें इंटरनेट का जो स्पीड होता है वह काफी तेज होगा यानी जब यह Wifi 6 लॉन्च हो जाएगा तब इससे दुनिया में सबसे बड़ा वायरलेस क्रांति हो सकता है।

Wifi 6 की जरूरी क्यों पड़ी

जैसा कि हम आज इस युग में जीवन व्यतीत कर रहे हैं यह युग टेक्नोलॉजी से भरा पड़ा है चुकी पुराने वाईफाई टेक्नोलॉजी में स्पीड की बाध्यता होती है इसलिए इसके स्पीड को अच्छा बनाने Wifi 6 का डिजाइन किया गया।

WiFi 6 का speed कितना है ?

WiFi 6 का speed की बात करें तो या लगभग 10 gbps के आसपास आकि गई है । इसमें स्पीड के साथ-साथ पावर कंजप्शन भी कम होता है।

आपने क्या सीखा

आपको हम नए-नए विषयों पर विस्तार से बताने का प्रयास करते रहते हैं और हमेशा अच्छे से उसका इंफॉर्मेशन देने का प्रयास करते हैं. आज हमने आपको Wifi क्या है (what is Wifi), Wifi का इतिहास, Wi-Fi technology, Wifi 6 एवं इससे संबंधित अन्य विषयों पर आपको बताया अगर हमारी जानकारी आपको अच्छी लगे तो कमेंट बॉक्स में कमेंट कर हमें जरूर बताएं और साथ ही साथ इस पोस्ट को फेसबुक व्हाट्सएप इंस्टाग्राम एवं अन्य सोशल माध्यमों से साझा करें इससे हमारा मनोबल बढ़ता है और हम आपके लिए नए नए विषयों पर जानकारी देते रहते हैं.

Leave a Comment