DNA Full Form: DNA क्या है और कहाँ पाया जाता है

जब आप विज्ञान पढ़े होंगे तब उसमें आपने DNA  के बारे में सुना होगा. आप कभी भी समाचार देखते होंगे तो डीएनए कई बार सुने होंगे , परंतु क्या आप DNA Full Form ,DNA क्या है,  इसके बारे में जानकारी है, DNA का इतिहास , डीएनए कैसे बनता है ,DNA Full Form IN HINDI अगर आपके पास नहीं है तो आज हम आपको बताने वाले हैं इससे संबंधित सभी तथ्यों को तो चलिए जानते हैं।  

 जैसा कि हम सभी को पता है कि मनुष्य के शरीर में बहुत ही अहम अणु में से एक डीएनए को माना जाता है और आप इसके बारे में आप हमेशा सुनते रहते होंगे . लेकिन क्या आपको पता है DNA क्या है, DNA Full Form क्या होता है इसके बारे में जानकारी है ?  अगर नहीं है तो आज हम आपके लिए जानकारी प्रदान करने का प्रयास किए हैं। 

क्या आपको मालूम है कि किसी भी व्यक्ति के जन्म लेने के बाद सभी में डीएनए  मिलता जो अलग-अलग व्यक्तियों में अलग-अलग होता है एक व्यक्ति का डीएनए दूसरे व्यक्ति से कभी नहीं मिल सकता हैं। परंतु कुछ  केस में जैसे जुड़वा होने पर डीएनए समान हो सकता है। 

अगर आप एक स्टूडेंट है या फिर आपको पढ़ाई में तो आपको DNA के बारे में जानना चाहिए। DNA क्या है? डीएनए के प्रकार, इसकी खोज किसने की ऐसे सवाल भी आपके मन में जरूर आते हैं यदि आप भी इस विषय यानी डीएनए के बारे में जानकारी इकट्ठा करने का प्रयास कर रहे हैं तो यह लेख आपके लिए उन सभी सवालों का जवाब लेकर आया है। 

DNA Full Form क्या है

DNA Full Form यानी DNA का पूरा नाम Deoxyribonucleic Acid होता हैं। एक मनुष्य को अपने माता-पिता से 23 जोड़ें DNA एक समान मिलते जुलते  हैं।  प्रत्येक के जोड़ों में से एक माता एक पिता के द्वारा मिलता है इसलिए इसे माता पिता के मिश्रण से बना हुआ डीएनए भी कहते हैं। 

DNA Full Form in hindi 

DNA Full Form in hindi : DNA Full Form in hindi की बात करें तो इसे हिंदी  में डीऑक्सीराइबोन्यूक्लिक अम्ल कहा जाता हैं डीएनए का अणु चार वस्तुओं से बना हुवा होता हैं और अणुओं की संरचना घुमावदार सीढ़ी के जैसा  होता  है।

DNA क्या हैं ?

DNA Full Form : DNA क्या है

DNA एक न्यूक्लिक एसिड है , सभी जीवित प्राणियों डीएनए पाया जाता है  साथ ही साथ यह वायरस में भी डीएनए पाया जाता है।  डीएनए प्राणी के शरीर में मौजूद थे जेनेटिक कोड के समान होता है जिसके माध्यम से मनुष्य के शरीर की सभी विशेषताओं को निर्धारित करने में सहायता प्रदान होती है। 

अगर हम आसान शब्दों में समझना चाहते हैं तो हम कह सकते हैं कि आपके शरीर में डीएनए ही बताता है कि आप कौन हैं आपकी पहचान क्या है आप के पिता माता कौन है?  पैदा होता है तो उनके माता-पिता बच्चे के शरीर में प्रवेश इस प्रक्रिया को हम Hereditary Material  कहते हैं, आसान शब्दों में समझना चाहते हैं तो इसे एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी  में सूचना का तंत्र पहुंचाने  का माध्यम कह सकते हैं। 

यही कारण है कि डीएनए से आप अपने माता पिता के बारे में पता कर सकते हैं ,DNA  मनुष्य के साथ-साथ सभी सचिव प्राणियों में जैसे पशु ,  क्यों कीड़े मकोड़े सभी में DNA पाया जाता है। इसलिए हम कह सकते हैं कि DNA आपकी पहचान को बताता है। 

मानव शरीर में डीएनए का निर्माण उसके शरीर में मौजूद अणु से मिलकर होता है  डीएनए का अणु आकार सीढीनुमा व् घुमावदार होता है।  प्रत्येक मनुष्य में विशेष डीएनए नहीं मिलता है,  एक डीएनए में विभिन्न पाए जाते हैं और इसी क्रम के कुछ भागों में विशेष कोड्स होते हैं। 

कोड का  निर्माण मनुष्य के शरीर में प्रोटीन की सहायता से बनता है जिसे हम जीन्स के नाम से भी जानते है। क्योंकि डीएनए का निर्माण विशेष प्रोटीन से मिलकर होता है इसलिए यह प्रत्येक मनुष्य में अलग-अलग विशेषताओं को दर्शाता है। 

उदाहरण के तौर पर आपकी बालो  का रंग कैसे होगा यह भी DNA डिसाइड करता है?

इसके अलावा इसका प्रभाव शरीर के अनेक भागों में पड़ता है इसलिए इसका उपयोग व्यक्ति के संबंध को भी पता करने के लिए किया जाता है। 

DNA का उपयोग कई बार आपराधिक गतिविधियों में सबूत को पाने हेतु किया जाता यदि किसी पुरुष पर महिला के संबंध बनाने का शक है तो उन दोनों का डीएनए टेस्ट के आधार पर यह आसानी से पता लगाया जा सकता है कि क्या यह बात सच है या झूठ है। 

DNA का इतिहास

DNA का इतिहास : डीएनए की इतिहास की बात करें तो यह पहली बार जर्मनी के बायोकेमिस्ट्स Friedrich Miescher ने 1869 ईस्वी में  DNA का अवलोकन किया गया परन्तु उनके इस अवलोकन को अत्यधिक  मिला। 

किताबों के आधार पर जब हम डीएनए के बारे में पढ़ते हैं तो इसकी शुरुआत वर्ष 1953 ईस्वी में James Watson, Francis Crick, Maurice Wilkins और Rosalind Franklin द्वारा की गई।  तब डीएनए की स्ट्रक्चर को प्रभाषित किया गया।  मानव सभ्यता के लिए डीएनए की खोज एक बहुत बड़ी कामयाबी थी जिसके कारण Watson, Francis Crick, Maurice Wilkins  इन तीनों व्यक्तियों को सन 1962 ईस्वी में नोबेल  पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया।

डीएनए कहां मिलता है ?

आपके मन में यह सवाल चल रहा होगा कि आखिर डीएनए कहां मिलता है ? तो हम पहले भी आपको बताएं कि डीएनए मनुष्य शरीर में मौजूद होता है जो मनुष्य के शरीर की कोशिकाओं से मिलकर बना होता है।  कोशिकाएं मुख्य सचिव प्राणियों में पाई जाती है अतः  हम कह सकते हैं कि जितने भी सजीव प्राणी हैं उनमें डीएनए मौजूद होता है।  

प्रत्येक प्रजातियों में क्रोमोसोम्स यानी गुणसूत्र की संख्या निश्चित होती है और जितने भी जीवित 

अधिकांशतः DNA कोशिकाओं में पाया जाता है जैसे कि यूकैरियोटिक, Animal cells, Plant cells, Fungi cell इत्यादि में पाया जाता है मनुष्य के शरीर में मौजूद यूकैरियोटिक कोशिकाओं के भीतर Nucleus पाए जाते हैं व Nucleus के भीतर X आकार के गुणसूत्र होते हैं।

मनुष्य के भीतर पाए जाने वाले यह गुणसूत्र जोड़ियों में होते हैं या हम कह सकते है की यह XX फॉर्म में होते हैं।   विभिन्न प्राणियों के अनुसार क्रोमोसोम्स की संख्या भिन्न भिन्न होती है मनुष्य में क्रोमोजोम्स कि यह संख्या 46 होती है एवं जानवर जैसे हाथी में क्रोमोसोम की संख्या 56 जोड़ी होती है।

जबकि Plant जैसे गाजर में क्रोमोसोम्स की संख्या 18 होती है और DNA जिसके विषय में हम पढ़ रहे हैं वह इन्हीं क्रोमोजोम्स के अंदर पाया जाता है डीएनए सबसे अधिक केंद्रक में पाया जाता है और उसके बाद यह माइट्रोकांड्रिया में पाया जाता है।

डीएनए कैसे बनता है

DNA का इतिहास , DNA कैसे बनता हैं
DNA इमेज विकिपीडिया से

डीएनए कैसे बनता है : किसी भी मनुष्य के शरीर में या किसी भी जीवित प्राणी में DNA Nucleotide नामक छोटे अणुओं से मिलकर बनता है। 

  • Adenine (A)
  • Guanine (G)
  • Cytosine (C)
  • Thymine (T)

इन चारों को मिलाकर हम इसे ATCG भी कह सकते हैं। 

डीएनए के कार्य व जुड़े रोचक तथ्य 

  • डीएनए के कार्य की बात करें तो इसे खून की जांच हेतु प्रयोग में लाया जाता है। मोटर के सैंपल की जांच हेतु डीएनए का समान होता है। 
  • डीएनए किसी भी जीवित प्राणी में मौजूद सेल में पाए जाते हैं। DNA किसी भी जीवित प्राणी की संरचना एवं गुणों को बताता है अतः यह जीव की identity का सूचक है।
  • हमारे शरीर में हजार से लेकर दस लाख DNA खत्म हो जाते हैं , और फिर इसे हमारा शरीर दोबारा से निर्माण कर लेता है।  
  • आपको जानकर हैरानी होगी कि जितना इंटरनेट पर डाटा उपलब्ध होता है डाटा को मात्र 2 ग्राम डीएनए स्टॉक आ सकता है।   तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि डीएनए कितना पावरफुल होता है। 
  •  मनुष्य जीवन के अंदर पाए जाने वाले डीएनए में 99.9 प्रतिशत समानता पाई जाती वैज्ञानिकों की बात करें तो उनके हिसाब से चिंपांजी से मनुष्य का डीएनए  लगभग 98% तक मिलता है। 
  • सूर्य से प्राप्त होने वाली UV शरीर में मौजूद डीएनए को नष्ट कर सकता हूं जिससे शरीर में कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है. 
  • आपको यह जानकर हैरानी होगी एक मनुष्य के शरीर में जो डीएनए की मात्रा होती है अगर प्रत्येक मात्रा को एक एक कर जोड़ा जाए तो इससे पृथ्वी से लेकर सूर्य था 600 बार की दूरी तय की जा सकती हैं। 

मित्रों मुझे उम्मीद है कि हमारा यह लेख पढ़ने के बाद आपको DNA Full Form क्या है  इसके बारे में जानकारी है, DNA क्या हैं ? ,DNA कैसा होता हैं ? डीएनए के कार्य , डीएनए कैसे बनता है , DNA का इतिहास  इससे संबंधित सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे अगर फिर भी आपके मन में कोई सवाल उत्पन्न हो रहा है तो हम उसके जवाब देने के लिए तत्पर हैं। 

 अगर आपको अच्छा लगा हो तो आप अपने मित्रों संबंधियों के साथ सोशल मीडिया में साझा करें ताकि उन्हें भी डीएनए के बाद जानकारी प्राप्त हो सके। धन्यवाद।  

DNA F&Q

Q. डीएनए कहा पाया जाता है?

A. डीएनए मनुष्य शरीर में मौजूद होता है जो मनुष्य के शरीर की कोशिकाओं से मिलकर बना होता है।

Q. डीएनए क्या है ?

A. DNA एक न्यूक्लिक एसिड है , सभी जीवित प्राणियों डीएनए पाया जाता है .

Q. डीएनए का प्रमुख कार्य

A. DNA किसी भी जीवित प्राणी की संरचना एवं गुणों को बताता है अतः यह जीव की identity का सूचक है।

इसे भी पढ़े :

Leave a Comment